Tuesday, September 29, 2020

राफेल विमान फ़्रांस की विमानन कंपनी द्वारा बनाया गया विमान है। ये विमान २ इंजन वाला लड़ाकू विमान है। सबसे पहले १९७० में फ्रांस की सेना द्वारा अपने पुराने विमानों को बदलने की आवश्यकता लगी। इसके बाद फ़्रांस ने ४ यूरोपीय देशो के साथ मिलकर विमान बनाने की योजना बनाई। पर उन देशो के साथ फ़्रांस को मतभेद हो गया। जिसके बाद फ़्रांस ने अकेले ही ये लड़ाकू विमान बनाने की योजना बनाई।

राफेल विमान सरहद पर किये बिना ही दुश्मन के ठिकानो को तबाह कर ने क्षमता रखता है। ये लड़ाकू विमान बिना एयर स्पेस बॉर्डर कोर्स किये पाकिस्तान और चीन के भीतर ६०० किलोमीटर तक टारगेट को पूरी तरह से प्रभावित करने की क्षमता रखता है। यानि की अम्बाला से ४५ मिनट में चीन और पाकिस्तान की तबाही कर सकता है। एयर टू एयर राफेल की रेंज ३७०० किलोमीटर बताई जा रही है। इस लड़ाकू विमान को हवा में रिफ्यूल किया जा सकता है। इसलिए इस विमान रेंज को जरूरत पड़ने पर बढ़ाई जा सकती है।

rafel
image source: https://gulfnews.com/

राफेल जेट की एक बड़ी खासियत है की ये एक बार उड़ान भरने के बाद १०० किलोमीटर के दायरे में ४० टारगेट एक साथ पकड़ सकता है। यानि की १०० किलोमीटर पहले से ही राफेल के पायलट को मालूम चल जायेगा की इस दायरे में कोई ऐसा टारगेट है जिससे विमान को खतरा हो सकता है तब दूसरा पायलट टारगेट का सिग्नल मिलने के बाद उसे बर्बाद करने के लिए राफेल में लगे हथियारों को ऑपरेट करेगा।

राफेल की एक और बड़ी खासियत ये है की दुश्मन के विमान के राडार को हवा में ही जाम कर सकता है। राफेल विमान के कॉकपिट के ऐसा सिस्टम डिज़ाइन किया गया है की जिससे युद्ध के दौरान पायलट का पुरा फोकस फ्लाइंग के साथ साथ दुशमन के टारगेट को हिट करने में एकाग्रता को बनाये रखने में अहम् साबित होगा। इस की वजह से टारगेट को हिट करने में एकाग्रता के साथ हिट करेगा इससे टारगेट मिस होने का चांस बहुत कम रहेगा।

३७०० किलोमीटर की क्षमता रखने वाला ये जेट में हथियारों की स्टोरेज के लिए ६ महीने की गारंटी भी होगी। इस के आलावा राडार सिस्टम पर १ टन के केमेरा की सुविधा उपलब्ध होगी।

राफेल जेट करीब १ मिनिट में ६० हज़ार फ़ीट की उचाई तक उड़ान भर सकता है। इस में मल्टी मोड राडार लगे है।

राफेल की अधिकतम भार उठाने की क्षमता २४,५०० किलोग्राम है। विमान में ईंधन की क्षमता १७००० किलोग्राम है। इस लड़ाकू विमान को हर तरह के मिशन में भेजा जा सकता है। ६० घंटे की उड़ान की गारंटी है। राफेल की अधिकतम स्पीड २१३० किलोमीटर/घंटा और ३७०० किलोमीटर की मारक क्षमता है।

 

Related Article