Tuesday, September 29, 2020

चीनी मोबाइल ऐप कंपनी बाईटडांस ने अमेरिका की कंपनी माइक्रोसॉफ्ट को बेचने का इन्कार कर दिया है। माइक्रोसॉफ्ट के हवाले से यह जानकारी सामने आई है। माइक्रोसॉफ्ट ने कहा है की बाईटडांस ने टिकटोक खरीद को लेकर दिया गया प्रस्ताव ठुकरा दिया है। और एक बात आपको बता देके की चीनी कंपनी का अमेरिका में परिचालन करने के लिए बेचने या बंद करने की सीमा समाप्त होने वाली है।

वाशिंगटन और बीजिंग के बिच एक टिकटोक का विवाद केंद्र में रहा है। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने अमेरिकियों को टिकटोक के साथ व्यापर करने से रोकने के लिए एक समयसीमा दे रखी है। इसके पीछे का मुख्य कारण ये है की टिकटोक अपने व्यापर को अमेरिकी कंपनी को बेच दे।

tiktok and microsoft
image source:https://www.marketwatch.com/

ट्रम्प का दावा है की टिकटोक का इस्तेमाल लोकेशन को ट्रैक करने और लोगो की जासूसी करने के लिए किया जा सकता ह। ट्रम्प ने टिकटोक को १५ सितम्बर तक अपनी हिस्सेदारी बेचने का समय दिया है।

टिकटोक के मालिक का जिक्र करते हुए माइक्रोसॉफ्ट ने बताया है की बाईटडांस अपना परिचालन माइक्रोसॉफ्ट को नहीं बेचेगा। इस में कहा है की हमें विश्वास है की राष्ट्र की सुरक्षा करते हुए हमारा प्रस्ताव टिकटोक के लिए अच्छा होगा। 

ट्रम्प के आदेश के बाद माइक्रोसॉफ्ट और ओरेकल टिकटोक को खरीदने के लिए संभावित उम्मीदवार थे। माइक्रोसॉफ्ट ने कहा है की अगर हमारे पास टिकटोक का हिस्सा आ जाता तो हम ऑनलाइन सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण बदलाव कर देते।

टिकटोक ने अमेरिका द्वारा की हुई कार्रवाई को चुनौती देते हुए कहा है की यह प्लेटफॉर्म देश के लिए एक असामान्य और असाधारण खतरा नहीं है।अमेरिका में टिकटोक को १७.५ करोड़ बार डाउनलोड किया गया है।

 

 

 

Related Article